छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ में आज एक लाख अनियमित कर्मचारी छुट्टी पर , चुनाव में किया वादा याद दिला रहे सरकार को

यदि कोई सुनवाई नहीं की गई तो एक सितंबर से बेमियादी आंदोलन करेंगे

AINS RAIPUR…छत्तीसगढ़ में आज एक लाख कर्मचारी छुट्टी पर हैं। इससे दफ्तरों के काम पर असर पड़ेगा। ये कर्मचारी उन्हें नियमित करने की मांग कर रहे हैं। यदि कोई सुनवाई नहीं की गई तो एक सितंबर से बेमियादी आंदोलन करेंगे।

कांग्रेस ने 2018 के छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में वादा किया था कि राज्य के अनियमित कर्मचारियों को नियमित करेंगे। ऐसे कर्मचारियों की संख्या एक लाख से ज्यादा है। छत्तीसगढ़ संयुक्त अनियमित कर्मचारी महासंघ के आह्वान पर रायपुर के बूढ़ा तालाब में शुक्रवार को चेतावनी सभा आयोजित की गई है। संगठन के संयोजक गोपाल साहू के अनुसार इस आंदोलन के जरिए राज्य की कांग्रेस सरकार पर नियमितिकरण की प्रक्रिया शुरू करने के लिए जोर डाला जाएगा। यदि कोई सुनवाई नहीं की गई तो एक सितंबर से अनिश्चितकालीन काम बंद किया जाएगा।

संगठन के प्रांताध्यक्ष रवि गडपाले ने कहा कि आज होने वाली चेतावनी सभा में एक लाख से ज्यादा कर्मचारी एक दिन की छुट्टी लेकर शामिल होंगे। कर्मचारी नेताओं का कहना है कि कांग्रेस ने सरकार बनने पर 10 दिन में नियमित करने का वादा था, लेकिन साढ़े तीन साल बाद भी वादा पूरा नहीं हुआ है। तीन साल बाद भी नियमितीकरण कमेटी की रिपोर्ट पूरी नहीं हुई है। डाटा एकत्रित नहीं किया जा सका। आउटसोर्सिंग बंद नहीं हुई और वेतन वृद्धि रोक कर छंटनी शुरू कर दी गई। इससे अनियमित कर्मचारियों में आक्रोश व्याप्त है|

कर्मचारी नेताओं ने राज्य की भूपेश बघेल सरकार से मांग की कि वह जल्द वादे पूर्ण करे अन्यथा बेमुद्दत आंदोलन कर सरकार का काम ठप कर दिया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button