राष्ट्रीय

बड़ी जिम्मेदारी से नवाजा जा सकता है मुख्तार अब्बास नकवी को, राज्यसभा सदस्यता सात जुलाई को खत्म हो रही है

संगठन में मुख्तार को बड़ी भूमिका में लाया जा सकता है

AINS DESK…केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी की राज्यसभा सदस्यता सात जुलाई को खत्म हो रही है। नियम के मुताबिक किसी भी सदन का सदस्य नहीं होने के बाद भी मुख्तार अब्बास अगले छह महीने तक मंत्री बने रह सकते हैं। अगर छह महीने के अंदर लोकसभा या राज्यसभा का सदस्य नहीं बनते तो उन्हें इस्तीफा देना पड़ेगा।

भाजपा ने मुख्तार अब्बास को राज्यसभा के लिए टिकट नहीं दिया। शुक्रवार को रामपुर और आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव के लिए भी प्रत्याशी का भी एलान कर दिया। पहले चर्चा थी कि मुख्तार को रामपुर से लोकसभा का उपचुनाव लड़ाया जाएगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। भाजपा ने मुख्तार अब्बास नकवी को रामपुर उपचुनाव के लिए भी टिकट नहीं दिया।

इस साल गुजरात और हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने हैं। 2024 में लोकसभा चुनाव भी है। ऐसे में मुख्तार अब्बास नकवी को संगठन की जिम्मेदारी दी जा सकती है। इससे पहले भी कई वरिष्ठ मंत्रियों को मोदी कैबिनेट से हटाकर संगठन में जिम्मेदारियां दी गई हैं। संगठन में मुख्तार को बड़ी भूमिका में लाया जा सकता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button