छत्तीसगढ़राजनीति

जितनी ईंट बजाना है बजा लें, फर्क नहीं पड़ता- मुख्यमंत्री बघेल

पूर्व सीएम रमन सिंह और मुख्य़मंत्री भूपेश बघेल के बीच भी वार पलटवार शुरू हो गया है.

रायपुर: छत्तीसगढ़ में इन दोनों कोयला चोरी का मसला राजनीतिक गलियारे में खूब धूम चौकड़ी मचा रहा है. पूर्व IAS OP चौधरी के ट्वीट पोस्ट को लेकर सवाल उठ रहे हैं. वहीं पूर्व सीएम रमन सिंह और मुख्य़मंत्री भूपेश बघेल के बीच भी वार पलटवार शुरू हो गया है. रमन सिंह के ट्वीट पर सीएम बघेल ने पलटवार किया है. उन्होंने कहा कि जितनी ईंट बजाना है बजा लें, फर्क नहीं पड़ता.

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रमन सिंह द्वारा पूर्व आईएएस और बीजेपी नेता ओपी चौधरी के बचाव को लेकर पलटवार किया है. उन्होंने कहा कि जितनी ईंट बजाना है बजा लें,
फर्क नहीं पड़ता.

सीएम बघेल ने कहा कि आप सामने से लड़ाई नहीं कर पा रहे हैं, अधिकारियों को बदनाम करने के लिए इस तरह का हथकंडा अपनाएंगे, आप आईएएस अधिकारी थे, दो साल कलेक्टर रहे हैं. पुराने वीडियो अपलोड कर कहेंगे कि 2022 का है, तो ये अपराध की श्रेणी में आता है. आप पर कार्रवाई होगी.

आईएएस अधिकारी का पद और बड़ा होता है. पूरे प्रदेश में आप इस तरह का वातावरण बनाना चाहते हैं, आप पर कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए. उन्हें बचाने में डॉक्टर रमन सिंह लगे हुए हैं. ओपी चौधरी पर फर्जी वीडियो अपलोड करने के मामले में एफआईआर हुई है.

दरअसल, रमन ने ट्वीट किया है. उन्होंने लिखा कि …और कितना गिरेंगे भूपेश बघेल. इतना दुर्बल मुख्यमंत्री नहीं देखा, जो सच नहीं देख सकता. ओपी चौधरी ने आपके लचर प्रशासन की खामियां उजागर की तो गैरजमानती धाराएं लगा दीं. हम डरने वाले नहीं हैं, सनद रहे, यह तानाशाही नहीं चलेगी, ईंट से ईंट बजा देंगे कांग्रेस सरकार की.

बता दें कि पूर्व आईएएस ओपी चौधरी ने 18 मई 2022 को अपने ट्विटर अकाउंट से एक वीडियो वायरल किया था, जिससे हड़कंप मच गया था. ट्वीट में बताया गया था कि यह कोयला चोरी का यह वीडियो गेवरा माइंस का है. इसके बाद से प्रशासन के कान खड़े हो गए थे, कुछ पुलिसकर्मियों पर भी गाज गिरी थी. अब ये मामला सियासी रूप धारण कर लिया है. वीडियो 2 साल पुराना बताया जा रहा है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button