छत्तीसगढ़

सरगुजा में सरकार पर गरजे धरमलाल कौशिक, कहा….

शायद यही वजह है कि बीती रात रायपुर शहर के एसएसपी प्रशांत अग्रवाल, शहर के एसपी तारकेश्वर पटेल, एएसपी और डीएसपी रैंक के अफसरों के साथ अलग अलग थानों का स्टाफ बदमाशों के इलाके में घुसा.

छत्तीसगढ़: छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में अपराध का ग्राफ बढ़ा है. आए दिन चाकूबाजी की घटनाएं किसी से छिपी नहीं है. पुलिस भी इस बात को मानती है कि इन दिनों शहर में बदमाशों का आतंक बढ़ा है. शायद यही वजह है कि बीती रात रायपुर शहर के एसएसपी प्रशांत अग्रवाल, शहर के एसपी तारकेश्वर पटेल, एएसपी और डीएसपी रैंक के अफसरों के साथ अलग अलग थानों का स्टाफ बदमाशों के इलाके में घुसा. पुलिस टीम ने गुढियारी, मौदहापारा, रामकुंड जैसे इलाकों में अड्डेबाजी करने वाले बदमाशों के ठिकानों पर दबिश दी.

अफसरों ने संदिग्ध युवकों की तलाशी ली तो किसी के पास गुप्ती मिला, तो किसी के पास पंच. बदमाश सरेआम यह हथियार लेकर घूम रहे थे. ऐसे में यह स्पष्ट हो गया कि बदमाश प्रवृति के लोग शहर में घूमते रहते है जो अपराधिक घटनाओं को अंजाम देते है. इसी मामले पर राज्य में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने सरकार पर जमकर निशाना साधा.

सरगुजा संभाग के दौरे पर पहुंचे नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार आने के बाद अपराधिक घटनाएं लगातार सामने आ रही हैं. यही वजह है कि प्रदेश की राजधानी रायपुर में 6 दिनों 3 लोगो की चाकू घोप कर हत्या कर दी गई है. प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल संस्कृति की बात करते है लेकिन उनके द्वारा एक नए संस्कृति को जन्म दिया जा रहा है कि चाकू से घोपना और उसे मारना उसके बाद वीडियो वायरल करना.

राजधानी में ये हाल तो बाकी प्रदेश में … – धरमलाल कौशिक

राज्य की कानून व्यवस्था पर चिंता जताते हुए धरमलाल कौशिक ने कहा कि जब राजधानी में इस तरह की घटना घटेगी तो बाकी प्रदेश की क्या स्थिति बनेगी. वास्तविक में पूरे प्रदेश के लिए चिंताजनक विषय है और इस विषय को लेकर हमारे गृहमंत्री है कि नहीं. इतना भी पता नहीं लगता. नाक के नीचे यदि घटना हो तो बाकी लोग कहां सुरक्षित रहेंगे. शांति का टापू छत्तीसगढ़ अपराधगढ़ के रूप में लगातार बदलते जा रहा है. अवैध नशे का कारोबार, युवाओं का भविष्य संकट में है. इसके साथ में जिस प्रकार से नए संस्कृति को कांग्रेस सरकार ने जन्म दिया है. आज कोई लोग सुरक्षित नहीं है. आम लोगों का भी घर से निकलना दुभर हो गया है.

उन्होंने आरोप लगाया कि प्रदेश में कांग्रेस के आने के बाद जो गुंडागर्दी करने वाले, चोरी करने वाले, अपराध करने वालों का मनोबल बढ़ा हुआ है. पुलिस को इस काम में लगाया गया कि जो कांग्रेस के खिलाफ बोले उसके खिलाफ अपराध पंजीबद्ध करो. पुलिस का यहां राजनीतिकरण किया जाएगा तो यही स्थिति प्रदेश की बनेगी.

इधर नेशनल हेराल्ड मामले में कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को ईडी के समक्ष पेश होने के मामले पर धरमलाल कौशिक ने कहा कि जितनी भी संवैधानिक संस्था है. जिनको जो अधिकार है वे अपना काम करेंगे. अगर सही है तो गलत क्या, साँच को आंच क्या. उन्होंने कहा कि ना प्रदर्शन करने की आवश्यकता ना घबराने की आवश्यकता है. कानून की नजर में सभी व्यक्ति एक है. इसलिए कानून की नजर में भेदभाव नहीं. ये जबरजस्ती प्रोपोगंडा करने में लगे हुए हैं और ये प्रोपोगंडा करने में कोई फर्क नहीं पड़ेगा.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button