राष्ट्रीय

भारी बारिश का अनुमान, जानें आपके शहर में आज कैसा रहेगा मौसम

मौसम विभाग ने शुक्रवार के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी करते हुए मध्यम वर्षा और गरज के साथ बौछारें पड़ने के अलावा तेज हवाएं चलने की संभावना जताई थी.

दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में बीती रात से लगातार भारी बारिश (Rain in Delhi NCR) हो रही है. जिससे तापमान में गिरावट दर्ज की गई है. रीजनल वेदर फॉरकास्टिंग सेंटर (RWFC) ने नई दिल्ली और एनसीआर में गरज के साथ बारिश अगले 2 घंटे तक जारी रहने का अनुमान जताया है. उसने कहा है, ‘दिल्ली और एनसीआर के कई इलाकों में गरज के साथ मध्यम बारिश (Weather Forecasting) अगले 2 घंटे तक जारी रह सकती है. इन इलाकों में लोनी देहात, हिंडन एएफ स्टेशन, बहादुरगढ़, गाजियाबाद, इंदिरापुरम, छपरौला, नोएडा, दादरी, ग्रेटर नोएडा, गुरुग्राम, फरीदाबाद और बल्लभगढ़ शामिल हैं.’ मौसम विभाग ने शुक्रवार के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी करते हुए मध्यम वर्षा और गरज के साथ बौछारें पड़ने के अलावा तेज हवाएं चलने की संभावना जताई थी.

एक दिन पहले दिल्ली के अधिकता मौसम केंद्रों में अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस के आसपास दर्ज किया गया. आईएमडी ने शनिवार से चार दिनों के लिए गरज के साथ छीटें पड़ने या हल्की बारिश की चेतावनी के साथ येलो अलर्ट जारी किया था. रविवार तक पारे के 36 डिग्री सेल्सियस तक गिरने का अनुमान है. विभाग के मुताबिक, 22 जून के बाद मौसम साफ हो जाएगा और शुष्क हवाएं चलेंगी हालांकि, तापमान तेजी से बढ़ने का पूर्वानुमान नहीं है. मानसून दिल्ली में सामान्य तिथि 27 जून या इससे एक या दो दिन पहले पहुंचने की उम्मीद है.

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) का कहना है कि 29 जून तक लू के हालात में नरमी बने रहने का अनुमान है. उत्तर पश्चिमी भारत दो जून से जबकि मध्य भारत 10 जून से गर्म और शुष्क पश्चिमी हवाओं के कारण लू की चपेट में था. आईएमडी के मुताबिक, दिल्ली, जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, उत्तरी राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, दक्षिण-पूर्वी उत्तर प्रदेश, उत्तरी मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र के विदर्भ क्षेत्र के अलग-अलग हिस्सों में तीन जून से शुरू हुई लू का असर 12 जून तक रहा. हालांकि, लू का प्रभाव कम होने के बाद भी 15 जून तक दिल्ली, दक्षिणी हरियाणा, दक्षिण-पूर्वी उत्तर प्रदेश और पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र के अलग-अलग हिस्सों पर यह हावी रहा.

मौसम विभाग ने कहा कि दक्षिण-पश्चिम मानसून के 23 जून से 29 जून के बीच मध्य भारत के शेष हिस्सों और उत्तर पश्चिम भारत के कई हिस्सों में पहुंचने की संभावना है. आईएमडी का कहना है कि पश्चिमी विक्षोभ के कारण पश्चिमी हिमालयी क्षेत्रों, और इससे जुड़े पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली और उत्तर प्रदेश के इलाकों में भारी बारिश होने का अनुमान है. इसके अलावा राजस्थान में भी अगले पांच दिनों के दौरान बारिश होगी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button