राष्ट्रीय

असम के बाढ़ प्रभावित होजै जिले में नाव पलटी, दो बच्चे अभी भी लापता

एक व्यक्ति तैरकर सुरक्षित स्थान पर पहुंच गया।

असम के बाढ़ प्रभावितहोजै (Hojai) जिले के रायकाटा इलाके में एक नाव के पलट जाने से दो बच्चे लापता हो गए। घटना शुक्रवार रात रायकाटा इलाके में हुई, जब बच्चों और महिलाओं समेत 27 लोगों को लेकर जा रही एक नाव बाढ़ के पानी में पलट गई. घटना के बाद पुलिस, एसडीआरएफ और दमकल एवं आपात सेवा की टीमें मौके पर पहुंचीं और 27 में से 24 लोगों को सुरक्षित बचा लिया।

दो बच्चे अभी भी लापता

फायर एंड इमरजेंसी सर्विसेज के एक अधिकारी ने बताया कि दो बच्चे अभी भी लापता हैं। अधिकारी ने कहा, ‘जब हमें सूचना मिली कि इस्लामपुर इलाके से आ रही एक नाव पलट गई है, तो हम मौके पर पहुंचे। हमने 24 लोगों को सुरक्षित बचा लिया है। उनमें से एक बीमार हो गया था और उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया था।’

बाढ़ से 1.05 लाख लोग प्रभावित

बाढ़ की इस लहर से जिले के 1.05 लाख लोग प्रभावित हुए हैं. असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (ASDMA) के मुताबिक, होजै जिले के 87 गांव बाढ़ के पानी की चपेट में हैं। जिले की 3757 हेक्टेयर फसल बाढ़ के पानी में डूब गई है।

बाढ़ से अब तक 54 लोगों की मौत

असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) के अनुसार, शुक्रवार को असम में बाढ़ के कारण नौ और लोगों की मौत हो गई, जिससे कुल मरने वालों की संख्या 54 हो गई। राज्य के 28 जिलों में 18.94 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। होजई, नलबाड़ी, बजली, धुबरी, कामरूप, कोकराझार और सोनितपुर जिलों में मौतें हुई हैं। बाढ़ प्रभावित जिलों में 43338.39 हेक्टेयर फसल भूमि को जलमग्न कर दिया है। राज्य के कई स्थानों पर बेकी, मानस, पगलाड़िया, पुथिमारी, जिया भराली, कोपिली और ब्रह्मपुत्र नदियों का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर बह रहा है.

373 राहत शिविरों में रह रहे बाढ़ प्रभावित लोग

वर्तमान में 1,08,104 बाढ़ प्रभावित लोग जिला प्रशासन द्वारा स्थापित 373 राहत शिविरों में शरण लिए हुए हैं। जिनमें से अकेले बजली जिले में 3.55 लाख लोग, दरांग में 2.90 लाख, गोलपाड़ा में 1.84 लाख, बारपेटा में 1.69 लाख, नलबाड़ी में 1.23 लाख, कामरूप में 1.19 लाख और होजै जिले में 1.05 लाख लोग प्रभावित हुए हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button