छत्तीसगढ़

कवर्धा जिला अस्पताल को राष्ट्रीय गुणवत्ता आश्वासन प्रमाण पत्र

उत्कृष्ट स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने प्रदान किया एनक्यूएएस सर्टिफिकेट

रायपुर. 21 जून 2022: मरीजों को बेहतर इलाज और उत्कृष्ट स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने वाले कबीरधाम जिला अस्पताल को केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा राष्ट्रीय गुणवत्ता आश्वासन प्रमाण पत्र प्रदान किया गया है। प्रदेश के नौ जिला अस्पतालों कोरबा, जशपुर, रायपुर, कांकेर, महासमुंद, बलौदाबाजार, मुंगेली, नारायणपुर और बीजापुर को भारत सरकार द्वारा पहले ही इस प्रमाण पत्र से नवाजा जा चुका है।

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की टीम द्वारा कवर्धा जिला अस्पताल के 12 विभिन्न विभागों के निरीक्षण के बाद स्वास्थ्य सुविधाओं को राष्ट्रीय मानकों के अनुरूप पाए जाने पर एनक्यूएएस सर्टिफिकेट प्रदान किया गया है। टीम ने विगत मई माह में वहां ओपीडी, लेबर रूम, मैटरनिटी वार्ड, पीडियाट्रिक वार्ड, एसएनसीयू, एनआरसी, आपरेशन थियेटर, पीपी यूनिट, आईपीडी, ब्लडबैंक, लैबोरेटरी और जनरल एडमिनिस्ट्रेशन विभाग का निरीक्षण किया था।

राष्ट्रीय गुणवत्ता प्रमाण पत्र पाने वाला प्रदेश का दसवां जिला बना कबीरधाम

स्वास्थ्य मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव ने बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं के लिए राष्ट्रीय गुणवता आश्वासन मानक प्रमाण पत्र हासिल करने वाले जिला अस्तपताल कबीरधाम के सभी अधिकारियों-कर्मचारियों को बधाई दी है। उन्होंने भरोसा जताया है कि जिला अस्पताल आगे भी अपनी उत्कृष्टता बरकरार रखते हुए मरीजों की सेवा करेगा और प्रदेश के दूसरे अस्पतालों के लिए नए प्रतिमान स्थापित करेगा।

स्वास्थ्य मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव ने अस्पताल के अधिकारियों-कर्मचारियों को दी बधाई

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, छत्तीसगढ़ के अंतर्गत राज्य के अस्पतालों में उत्कृष्ट स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने और मरीजों को बेहतर इलाज उपलब्ध कराने के लिए स्वास्थ्य कर्मियों के नियमित प्रशिक्षण के बाद संस्था का आंतरिक तथा राज्य स्तरीय मूल्यांकन, सेवा प्रदाय ऑडिट तथा मरीज संतुष्टि सर्वे की प्रक्रिया की जाती है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की टीम ने अस्पताल का निरीक्षण कर वहां मरीजों के लिए उपलब्ध सेवाओं की गुणवत्ता का परीक्षण किया था। उन्होंने इस संबंध में मरीजों से फीडबैक भी लिया।

राष्ट्रीय गुणवत्ता आश्वासन मानक प्रमाण पत्र प्रदान करने से पूर्व केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के विशेषज्ञों की टीम द्वारा जिला अस्पताल की सेवाओं और संतुष्टि स्तर का कई मानकों पर परीक्षण किया जाता है। इन कड़े मानकों पर खरा उतरने वाले अस्पतालों को ही भारत सरकार द्वारा गुणवत्ता प्रमाण पत्र जारी किया जाता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button