अन्तराष्ट्रीयखेलमनोरंजनराष्ट्रीय

T20 World Cup : इन खिलाड़ियों ने अच्छा खेलकर बढ़ाई बीसीसीआई की परेशानी!

दरअसल, भारत-दक्षिण अफ्रीका टी-20 सीरीज में भारत के तमाम प्रमुख खिलाड़ी जैसे रोहित शर्मा, विराट कोहली, जसप्रीत बुमराह, केएल राहुल, मोहम्मद शमी नहीं खेल सके लेकिन जिन युवाओं को मौका मिला लगभग सभी ने अपने प्रदर्शन से प्रभावित किया.

T20 World Cup : टी20 वर्ल्ड कप के लिए भारतीय टीम की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं. हालांकि टी20 वर्ल्ड कप 16 अक्टूबर से शुरू होगा इसे शुरू होने में अभी करीब 4 महीने का समय है लेकिन इससे पहले तमाम सीरीज होनी हैं.

हेड कोच राहुल द्रविड़ ने भी यह संकेत दे दिए हैं कि टी20 वर्ल्ड कप के लिए टीम चुनने की प्रक्रिया इंग्लैंड दौरे के बाद से ही शुरू हो जाएगी. उन्होंने एक मीडिया इंटरव्यू में कहा था कि इंग्लैंड दौरे के बाद मुख्य तौर पर 18-20 खिलाड़ियों के नाम तय कर लिए जाएंगे. उसमें से ही टी20 वर्ल्ड कप के लिए टीम तैयार की जाएगी. हालांकि यह नाम पूरी तरह फाइनल नहीं होंगे एक अनुमान होगा कि हमें फाइनल टीम किन खिलाड़ियों के बीच में से चुननी है. लेकिन तमाम खिलाड़ी इस काम में बीसीसीआई राहुल द्रविड़ की परेशानी बढ़ा रहे हैं.

दरअसल, भारत-दक्षिण अफ्रीका टी-20 सीरीज में भारत के तमाम प्रमुख खिलाड़ी जैसे रोहित शर्मा, विराट कोहली, जसप्रीत बुमराह, केएल राहुल, मोहम्मद शमी नहीं खेल सके लेकिन जिन युवाओं को मौका मिला लगभग सभी ने अपने प्रदर्शन से प्रभावित किया. अब दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेलने वाले प्लेइंग 11 अन्य प्रमुख खिलाड़ियों को की संख्या जोड़ ली जाए तो लगभग 18 खिलाड़ी हो जाते हैं लेकिन अभी तमाम खिलाड़ी अपने शानदार प्रदर्शन से बीसीसीआई के दरवाजे पर दस्तक दे रहे हैं.

इस बड़ा नाम यशस्वी जयसवाल का है. यशस्वी जयसवाल ने रणजी ट्राफी में दो टेस्ट मैचों में एक के बाद एक तीन शतक जड़कर ये दिखाया है कि वह भारतीय टीम में शामिल किए जाने के काबिल हैं. इससे पहले आईपीएल 2021 में भी शानदार प्रदर्शन के कारण राजस्थान रॉयल्स ने उन्हें आईपीएल 2022 में रिटेन किया था. वहीं, दिल्ली कैपिटल्स के लिए खेलने वाले पृथ्वी शॉ भी बेहतरीन बल्लेबाजी देखते हुए दिल्ली कैपिटल्स की ओर से रिटेन किए गए थे. रणजी ट्रॉफी में भी सेमीफाइनल में 71 गेंद पर 64 रन की शानदार पारी खेली थी.

ओपनिंग करते हुए जब टीम के 66 रन बने थे, उसमें 64 रन तो पृथ्वी शॉ के ही थे. इसके अलावा क्वार्टर फाइनल में भी 80 गेंद पर 72 रन ठोके थे. शॉ टेस्ट में भी वनडे की तरह बल्लेबाजी करते दिखे. ऐसे में उनका दावा भी टीम में बनता है. इसके अलावा आईपीएल 2022 में शिखर धवन ने 8 मैचों में 302 रन ठोके थे. उन्हें इंग्लैंड दौरे पर शामिल नहीं किया गया. इस पर पू्र्व दिग्गज क्रिकेटर सुनील गावस्कर ने कहा था कि मैं होता तो उन्हें टीम में चुनता. इसके अलावा राहुल तेवतिया का प्रदर्शन भी आईपीएल 2021 222 में बेहतरीन रहा था.

अब सवाल ये है कि टीम में इन खिलाड़ियों के लिए जगह कैसे बनाई जाएगी. अगर राहुल द्रविड़ के बताए फार्मुले को देखें तो इन खिलाड़ियों की टी20 वर्ल्ड कप में जगह बनती नहीं दिखती लेकिन प्रदर्शन देखें तो इन्हें नजरअंदाज नहीं किया जा सकता. ऐसे में अब दिखाई तो यही दे रहा है कि खिलाड़ियों के चयन के लेकर राहुल द्रविड़ परेशान होंगे. हालांकि सही स्थिति क्या है, ये तो द्रविड़ खुद ही बता सकते हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button