राष्ट्रीय

स्टाइल और फैशन सिंबल बनता जा रहा हैं टैटू, लार्ड शिवा टैटू सबसे ज्यादा डिमांड में

खासकर युवाओं में टैटू का बहुत क्रेज है और ये क्रेज अब महिलाओं में भी बढ़ता जा रहा है।

टैटू बनवाने और गुदवाने की परंपरा वर्षों पुरानी है लेकिन समय बदलने के साथ साथ ये परम्परा फैशन में बदल गई है। पुराने समय में जहाँ शरीर पर गोदने के बाद चित्र बनाने का प्रचलन था लेकिन अब नए डिजाइनर टैटू के रूप में उभर रहा है।

खासकर युवाओं में टैटू का बहुत क्रेज है और ये क्रेज अब महिलाओं में भी बढ़ता जा रहा है। इसको लेकर शहर के वैशाली नगर में टैटू स्टूडियो स्थापित किये गए जहाँ युवाओं में शिवा टैटू के साथ-साथ पोट्रेट टैटूज भी काफी लुभा रहा है और टैटू बनवाना भी लैटेस्ट ट्रेंड बनता जा रहा है।

लार्ड शिवा टैटू है बॉयज में प्रचलित

टैटू बनवाने को लेकर बॉयज की बात करे तो आज के समय में लार्ड शिवा के टैटू बहुत पसन्द किये जा रहे है । बॉयज में लार्ड शिवा की मान्यता उनके टैटू में भी नजर आती है। बॉयज का टैटू स्टूडियो पर शिवा और शिवा के साइन जैसे त्रिशूल, नाम, ॐ, रुद्राक्ष के साथ साथ शिवा मन्त्र और महामृत्युंजय मन्त्र बनवाना पसन्द कर रहे है। शिवा टैटू डिजाइन बॉयज की पहली पसन्द है जो उन्हें डार्क शेड और डार्क इंक में पसंद है। बॉयज प्रतिशत बॉयज बाईशेप पर टैटू डिजायन बनवा रहे है गर्ल्स की बात करे तो गर्ल्स एंकल और रिस्ट पर टैटू डिजाइन करवाना ज्यादा पसन्द कर रही है।

लव नोट्स और बर्ड्स डिजाइन है गर्ल्स की पसंद

टैटू डिजाइन की बात करे तो गर्ल्स में अब स्टार्स, बटर फ्लाई, और फ्लोरल डिजाइन काफी ओल्ड हो चूका है। गर्ल्स अब इन सब से हटकर हार्ट्स, बर्ड्स, स्क्रिप्ट, स्लोगन, लव नोट्स लिखवाना और डिजाइन करवाना ज्यादा पसन्द है । इसके साथ ही गर्ल्स इंस्पायरिंग मेसेजेस भी डिजायन करवा रही है जो उनकी किसी न किसी खट्टी मीठी यादों से जुड़ा है।

शेडिंग वर्क ने ली ट्राइबल वर्क की जगह

टैटू डिजाइनर प्रीति वर्मा का कहना है की पहले लोगों को ट्राइबल वर्क करवाना ज्यादा पसन्द था लेकिन समय बदलने के साथ साथ डार्क टैटूज और शेडिंग वर्क वाले टैटूज ज्यादा डिमांड में है। प्रीति का कहना है कि डार्क इंक के टैटू और शेड्स वाले टैटूज बॉयज में ज्यादा प्रचलित है।

वाटर स्प्लैश इफ़ेक्ट बना लैटेस्ट ट्रेंड

टैटू डिजाइनर प्रीती का कहना है की इन दिनों वाटर स्प्लैश इफ़ेक्ट डिजायन वाले टैटूज ट्रेंडी है जिसमे डिजाइन के साथ साथ वाटर के स्प्लैश का इफ़ेक्ट दिया जाता है जो बेहद अट्रेक्टिव लगता है। वाटर स्प्लैश टैटू में डार्क ब्लैक इंक डिजाइन में और स्प्लैश इफ़ेक्ट में मल्टी कलर का यूज किया जाता है। लोगों में चलन की बात करे तो ब्लैक कलर की डिजायन और कलरफुल वाटर स्प्लैश कलरफुल इंक में होने के कारण गर्ल्स में ये ज्यादा हिट है।

महिलाओं में भी बढ़ा टैटूज का क्रेज

टैटूज का आमतौर पर क्रेज युवाओं में देखने को मिलता है लेकिन समय के बदलाव के साथ साथ टैटू डिजाइन करवाना लैटेस्ट ट्रेंड बन गया है। जिसके चलते टैटू बनवाना अब महिलाओं में भी प्रचलित होता जा रहा है। टैटू डिजाइनर प्रीती ने बताया कि टैटू का क्रेज अब 40 से 45 वर्ष उम्र की महिलाओं में भी बढ़ रहा है।महिलाए आमतौर पर छोटे टैटू, हस्बैंड नेम के साथ साथ रिलीजियस टैटू और बच्चों के नाम डिजाइन करवा रही है।

ये कलर है चलन में

लोगों में टैटूज में कलर की बात करे ब्लैक कलर आल टाइम फेवरट है लेकिन बॉयज में डार्क कलर पसन्द किया जा रहा है वहीँ गर्ल्स को कलरफुल टैटूज ज्यादा पसन्द है। शेड्स की बात करे तो इंडियन स्किन टोन पर रेड, मरुन्, ग्रीन, और ब्लू कलर इंक चलन में है।

टैटू बनवाने से पहले इन बातों का रखे ख्याल

टैटू बनवाने से एक रात पहले कभी भी अल्कोहल या फिर कैफीन का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि ये दोनों ही चीजें हमारे ब्लड को पतला करती हैं। अगर आप इस सावधानी का पालन नहीं करते हैं तो टैटू बनवाने के दौरान खून बहने का खतरा पहले से कहीं ज्यादा हो सकता है। टैटू बनवाने के लिए कम से कम एक हफ्ते पहले से जमकर पानी पिएं।

विशेषज्ञों का मानना है कि इस दौरान कम से कम दो लीटर पानी रोज पीना चाहिए। ज्यादा पानी पीने से न सिर्फ हमारी स्किन हेल्दी बल्कि मुलायम भी रहती है। टैटू बनवाने के लिए जाने से पहले हमेशा पेट भरकर खाना खा लें। इससे पूरे सेशन के दौरान आप चैतन्य बने रहेंगे और आपको आलस नहीं आएगा। इस काम से आपको टैटू बनवाने के दौरान दर्द भी कम होगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button