Uncategorized

मोदी जी एक तरफ विकास लिए खड़े हैं दूसरी तरफ जनता खड़ी है लेकिन बीच में रोड़ा बने भूपेश और कांग्रेस खड़े हैं : जेपी नड्डा

स्व:सागर साहू,नीलकंठ कक्केम ,बुधराम करटाम के साथ 18 करोड़ भाजपा कार्यकर्ता - जगतप्रकाश नड्डा

AINS BASTAR…भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगतप्रकाश नड्डा ने ऐलान किया है कि 18 करोड़ भाजपा कार्यकर्ता स्व: सागर साहू, नीलकंठ कक्केम और बुधराम करटाम और उसके परिवार के साथ है। भाजपा प्रजातांत्रिक तरीके से नक्सलियों का मुकाबला करेगी। उन्होंने जनता का आव्हान किया कि भूपेश बघेल को आराम दो और भाजपा को काम दो क्योंकि मोदी जी छत्तीसगढ़ का विकास करना चाहते है लेकिन भूपेश और कांग्रेस उसमे रोड़ा बन रही है। लालबाग मैदान पर विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि बस्तर आने का मौका मिला। कल तक मन में बहुत उमंग थी कि आप सब के दर्शन होंगे। लेकिन कल रात जो घटना घटी, उसने दिल को दहला दिया। मन दुखी हुआ, द्रवित हुआ। मैंने कहा कि मैं भी जगदलपुर भी आऊंगा और नारायणपुर भी जाऊंगा और हमारे जाबांज कार्यकर्ताओं के परिवार के लोगों से भी मिलूंगा। उनसे कहूंगा कि आपका बेटा, आपका भाई अकेला नहीं है। उसके और आपके परिवार के साथ 18 करोड़ कार्यकर्ताओं की पार्टी खड़ी है। हम पूरी ताकत के साथ ऐसे नक्सली हमलों का हजार बार जवाब देंगे और प्रजातांत्रिक तरीके से बदलाव लाएंगे।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगतप्रकाश नड्डा ने मां दंतेश्वरी और जनता को नमन करते हुए कहा कि आज पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी का बलिदान दिवस है। पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी ने सर्वजन हिताय, सर्वजन सुखाय, सबका हित हो, सब सुखी रहें, इस मंत्र को लेकर एक दृष्टि दी थी, दिशा दी थी। समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति की मदद होनी चाहिए। उसको ताकत देनी चाहिए। उन्होंने अंत्योदय का सिद्धांत दिया। मुझे खुशी है कि हमारे यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी इसी मंत्र को लेकर चल रहे हैं। उनका नारा है सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास, सबका प्रयास। जब हम दीन दयाल उपाध्याय जी को याद करते हैं तो हम कह सकते हैं कि उनके विचार आज भी उतने ही प्रासंगिक हैं जितने उस समय थे। उन्होंने हम लोगों को शिक्षा दी थी। उस दृष्टि को लेकर समाज कल्याण में हम सब लोग लगे हुए हैं।

श्री नड्डा ने कहा कि मुझे बहुत दुख हुआ। स्व:सागर साहू की खबर सुनी। 6 फरवरी को बीजापुर के मंडल अध्यक्ष नीलकंठ कक्केम की हत्या दुख पीड़ा देने वाली है। इसी तरीके से हमारे बुधराम करटाम की संदिग्ध हालत में लाश मिली। यह घटनाए बहुत से प्रश्न खड़े कर रही है। मैं सवाल खड़ा करना चाहता हूं कि क्या यह सच्चाई नहीं है कि भूपेश बघेल की सरकार आई है तब से इस तरह की घटनाएं बढ़ी हैं। जब रमन सिंह की सरकार थी तो लोगों को जीने का हक था। लॉ एंड ऑर्डर था। शांति थी। सब लोगों के लिए काम हो रहा था। सभी तबकों के विकास, सभी क्षेत्रों के विकास की दृष्टि से काम हो रहे थे। आज मैं देखता हूं। यह बताना चाहता हूं कि कांग्रेस का दूसरा नाम ही छलावा है, लटकाना, भटकाना ,अटकाना , झटकाना यह कांग्रेस की रीति नीति है। इसलिए कांग्रेस का कोई नेता यह करे तो अचरज की कोई बात ही नहीं है। वे इसीलिए बने हैं। हम विकास के लिए बने हैं। वह विकास को अवरुद्ध करने के लिए बने हैं। हम विकास को आगे बढ़ाने के लिए बने हैं। वे लोगों को भड़काने के लिए बने हैं।कांग्रेस का लक्ष्य फूट डालो और राज करो है। हम गर्व के साथ कह सकते हैं कि छत्तीसगढ़ तब छत्तीसगढ़ बना, जब भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी जी हमारे प्रधानमंत्री बने। स्वर्गीय राजीव गांधी और उनके परिवार के लोग पिकनिक मनाने बस्तर आते थे यह उनके घूमने फिरने आनंद लेने की जगह थी। कोई सुध नहीं लेता था। दूरदराज कटा इलाका था। जब रमन सिंह की सरकार आई, तब बस्तर का विकास हुआ। छत्तीसगढ़ का विकास हुआ। मुझे खुशी है कि एम्स रायपुर में स्थापित हुआ और कोरोना काल में सबका इलाज हुआ। उजाले का महत्व तभी समझ में आएगा, जब तुम्हें अंधेरा याद आएगा। अंधेरा याद नहीं है तो उजाले का महत्व समझ में नहीं आएगा। उसने कहा कि मैं सालों तक छत्तीसगढ़ का प्रभारी रहा हूं शुरू शुरू में जब भी आया करता था तो पता चलता था कि 6 बजे बिजली आएगी 8 बजे चली जाएगी। लेकिन डॉक्टर रमन सिंह की सरकार ने छत्तीसगढ़ को पावर कट स्टेट बनाया। हम छाती ठोक कर कह सकते हैं कि हमारे राज में पावर कट होना बंद हो गया। मैं कहना चाहता हूं कि भूपेश का पावर कट कर दो। हम प्रदेश को आगे बढ़ाएंगे। जब भाजपा सरकार में आई तो छत्तीसगढ़ का बजट 7000 करोड था जब रमन सिंह ने सरकार छोड़ी तब 83,179 करोड़ बजट था। 1 रुपये किलो में चावल दिया गया। आदिवासी भाइयों को वनाधिकार पट्टा दिया। भाजपा की सरकार ने वन अधिकार पत्र दिए। दंतेवाड़ा में रेजिडेंशियल स्कूल खोला गया। भूपेश बघेल का एक काम बता दो जो उन्होंने आदिवासियों के लिए किया हो। भाजपा के राज में आदिवासी बच्चों की पढ़ाई के लिए विशेष स्कूल खोले गए। 150 एकड़ की जमीन में 13 शिक्षण संस्थान बने। हमने इन आंखों से बस्तर के विकास की कहानी देखी है। मोदी जी ने 2017 में बलीराम कश्यप मेडिकल कॉलेज दिया। 3,252 ट्राईवल हॉस्टल दिए। संचार क्रांति के तहत लोगों को मोबाइल दिया गया है। यह भी बता दूं कि इस बार राष्ट्रपति अभिभाषण पढ़ने का अवसर भारत में पहली बार आदिवासी समाज की बेटी श्रीमती द्रौपदी मुर्मू को मिला। आप उनका अभिभाषण सुनिए कि मोदी जी के राज में भारत कहां चल पड़ा है। एक आदिवासी महिला राष्ट्रपति बनकर अभिभाषण दे रही है। यह परिवर्तन आया है तो मोदी जी के राज में आया है। इसको हम को समझना होगा। आज मोदी जी के राज में तीन राज्यपाल और 8 आदिवासी मंत्री हैं। जब दुनिया के तमाम विकसित देशों, विकासशील देशों का विकास रुक गया है तब ऐसी परिस्थिति में मोदी जी ने कोरोना के बावजूद 6.1प्रतिशत की दर से भारत का विकास किया। दसवें नंबर की अर्थव्यवस्था से अंग्रेजों को पछाड़कर पांचवें नंबर पर आ गई है। आपको जानकर खुशी होगी कि दवाई बनाने में भारत आज दुनिया की फार्मेसी बन गया है। सबसे सस्ती दवाएं भारत बना रहा है। दूसरे नंबर पर भारत खड़ा हुआ है। पहले 92% मोबाइल बाहर से आते थे अब 97% मोबाइल भारत बना रहा है। हर मोबाइल पर लिखा होता है मेक इन इंडिया।

यह जीजाजी वाला भारत नहीं है। 5G वाला भारत है। विकास वाला भारत जाना जाता है। जापानी बुखार की दवा 100 साल बाद पहुंची लेकिन मोदी जी ने कोरोना काल में वैक्सीन बनाने कहा और वैज्ञानिकों और डॉक्टरों के प्रयास से 9 माह के अंदर भारत की दो वैक्सीन आ गई। आपको याद है कि कांग्रेस के नेता क्या बोलते थे। भूपेश बघेल क्या बोलते थे। वैक्सीन मत लगाओ मत लगाओ। इसकी टेस्टिंग नहीं हुई है और खुद जाकर चुपके से लगा लिया। यह लोगों को गुमराह करते हैं और खुद टीका लगाते हैं। आज मुझे खुशी हुई कि आप मुझसे मिल रहे हैं।किसी ने भी मास्क नहीं पहना है। यह मोदी जी के नेतृत्व में 220 करोड़ डोज का परिणाम है। मोदी जी ने यूक्रेन और रूस दोनों देशों से बात कर और युद्ध के दौरान भी देश के बच्चों को भारत वापस बुलवाया। इसलिए हम यह कह सकते हैं कि विकास की दृष्टि से हो, या नेतृत्व देने की बात हो बदलते भारत की तस्वीर हो, यह सब मोदी जी के नेतृत्व में हुआ है। 15,000 करोड़ रुपए कमजोर जनजाति समूह के लिए इस बजट में दिया गया है। एकलव्य विद्यालय में 38,800 शिक्षकों की भर्ती होगी ताकि ट्राईवल का बच्चा पढ़ सके। 73 एकलव्य विद्यालय छत्तीसगढ़ में होंगे। छत्तीसगढ़ का रेल का बजट भी हजारों करोड़ का है। रायपुर से विशाखापट्टनम तक इकोनामिक कॉरिडोर बन रहा है। भिलाई में आईआईटी साथ एयरपोर्ट को भी बढ़ावा दिया जा रहा है।

भूपेश बघेल गरीब को झोपड़ी से नहीं निकलने देना चाहते। पक्के मकान मिलें, यह मंजूर नहीं। गैस का कनेक्शन मिले पानी का कनेक्शन मिले, भूपेश बघेल यह नहीं चाहते। क्या ऐसे लोगों को सरकार में रहने देना चाहिए। लटकाने वाले लोगों को लटकाना है और भाजपा को काम देना है।
आज छत्तीसगढ़ बलात्कार में सातवें नंबर, लॉ एंड ऑर्डर की सिचुएशन नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के तहत डकैती में पांचवें, फिरौती में चौथे नंबर, आत्महत्या में दूसरे नंबर, नारकोटिक्स में दूसरे नंबर पर, मर्डर में तीसरे नंबर पर है।

जल जीवन मिशन में मोदी जी पैसा दे रहे हैं। आवास दे रहे हैं। 10 करोड़ लोगों को हम पानी पहुंचाने में सफल हुए। *छत्तीसगढ़ जल जीवन मिशन में 31 वें नंबर पर है*। क्या विकास में गतिरोध पैदा करने वाले लोगों को रहने देना है। क्या आप नहीं चाहते कि पानी का कनेक्शन आए। अगर चाहते हैं तो बघेल को आराम दो और भाजपा को काम दो।

राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने भाजपा सरकार के विकास कार्यों की याद दिलाते हुए भूपेश बघेल सरकार पर जमकर हमला बोला और बताया कि ये जो चमचमाती हुई सड़कें जो प्रदेश में बनी है वो भाजपा की ही देन है भूपेश बघेल खुद कहता है मैं सड़कें ,हाईवे ब्रिज स्कूल ,अस्पताल ,नहीं बनाऊंगा विकास करना कांग्रेस के बस की बात नहीं।

बस्तर को अच्छी सड़कें देने वाली,बस्तर में रोशनी देने वाली, अच्छी शिक्षा देने वाली, गरीबों को 1 किलो रुपए चावल देने वाली भाजपा की सरकार है। जनता का हक कन्यादान योजना, तीरथ योजना, चरण पादुका योजना बंद करने वाली भूपेश बघेल सरकार है। भूपेश बघेल और कांग्रेस बस्तर में विकास रोकने की अपराधी है।
बस्तर ने जब जब स्नेह दिया है। तब तब कमल खिला है और बस्तर में कमल खिल गया तो छत्तीसगढ़ में कमल खिलने से कोई नहीं रोक सकता।

जनसभा में भाजपा प्रदेश सह प्रभारी नितिन नबीन, क्षेत्रीय संगठन महामंत्री अजय जम्वाल, प्रदेश संगठन महामंत्री पवन साय, नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल, बस्तर संभाग प्रभारी सांसद संतोष पांडेय, प्रदेश महामंत्री केदार कश्यप ,ओपी चौधरी, प्रदेश उपाध्यक्ष मोतीलाल साहू, पूर्व सांसद रामविचार नेताम, पूर्व सांसद दिनेश कश्यप, पूर्व मंत्री लता उसेंडी, पूर्व मंत्री महेश गागड़ा, कमल चंद भंजदेव, लच्छू राम कश्यप, सुभाऊ कश्यप, संतोष बाफना, संजय पांडे, राजाराम तोड़ेम, बैदूराम कश्यप, रूपसिंग मंडावी, विद्या शरण तिवारी, श्रीनिवास मद्दी, धनीराम बारसे, बृजमोहन देवांगन, हंगाराम मरकाम, चैतराम आतामी, ओजस्वी मंडावी, भरत मटियारा, बस्तर जिला प्रभारी जी वेंकट, सह प्रभारी सेवकराम नेताम,लोकसभा प्रवास योजना प्रदेश सहसंयोजक श्याम सुंदर अग्रवाल,जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती वेगवती कश्यप,जिपं उपाध्यक्ष मनीराम कश्यप, जगदलपुर विधानसभा प्रभारी निखिल राठौर, चित्रकोट विधानसभा प्रभारी नवीन विश्वकर्मा, बस्तर विधानसभा प्रभारी आलोक ठाकुर,जिला उपाध्यक्ष योगेन्द्र पाण्डेय, श्रीधर ओझा,श्रीनिवास मिश्रा,जिला महामंत्री रामाश्रय सिंह, वेदप्रकाश पाण्डेय,जिला कोषाध्यक्ष रजनीश पाणिग्रही, जिला मंत्री नरसिंह राव, बाबुल नाग, अजजा मोर्चा जिला अध्यक्ष महेश कश्यप, भाजयुमो जिला अध्यक्ष अविनाश श्रीवास्तव, महिला मोर्चा जिला अध्यक्ष श्रीमती सुधा मिश्रा आदि उपस्थित थे सभा का संचालन प्रदेश महामंत्री केदार कश्यप तथा आभार प्रदर्शन किरण देव ने किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button