क्राइम

पूरी प्लानिग के साथ की थी हत्या, प्रेमिका को पाने उसके पति को उतारा मौत के घाट

पुलिस ने इस मामले में खुलासा किया

AINS NEWS… मुंगेली जिले में दो दिन पहले रेहुटा शराब दुकान के पीछे अज्ञात युवक की लाश मिली थी। जिसकी पहचान खर्रीपारा के रहने वाले नरेंद्र श्रीवास के रूप में हुई। पुलिस ने इस मामले में खुलासा किया है। जिस पर पुलिस ने जांच पाया पाया की मुख्य आरोपी ने सहयोगियों और अपनी प्रेमिका से मिलकर नरेन्द्र श्रीवास की हत्या कर शव को शराब भठ्ठी के पीछे ठिकाने लगाया था।

हत्या करने के लिये सल्फास गोली खिलाकर बेहोश होने पर तौलिये से गला घोट कर हत्या कर दी। इस मामले में छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है। बीती सात जून 2024 को पुलिस को सूचना मिली थी कि ग्राम रेहुंटा शराब भट्ठी के पीछे नीम पेड़ के नीचे एक अज्ञात पुरुष उम्र करीबन 24-25 साल की लाश पड़ी है।

सूचना के आधार पर पुलिस द्वारा मौके पर पहुंचकर जांच करने पर मृतक की पहचान नरेन्द्र श्रीवास पिता शिवनारायण श्रीवास उम्र 25 साल साकिन खरीपारा मुंगेली के रूप में हुई। इके बाद मृतक के शव का पंचनामा कार्यवाही पश्चात शव का पी.एम. जिला अस्पताल मुंगेली से कराया गया। नौ जून को रिपोर्ट आई थी कि मृतक का गला दबाने कारण मौत हुई। इसके बाद पुलिस ने धारा 302, 201 के तहत मामला दर्ज किया।

पुलिस ने करीबन 500 मोबाईल नंबरो की काल डिटेल साइबर सेल से टावर डम्प घटना स्थल के आस-पास के सीसी कैमरा फुटेज लिया गया। अवलोकन तथा मुखबीर से प्राप्त सूचना एवं सीसी कैमरा फुटेज आरोपीगण शिवम साहू, अजय धुरी तथा राकेश श्रीवास को अलग अलग पुलिस टीम भेजकर बिलासपुर एवं रायपुर से पकड़ कर थाने लाया गया। आरोपी राकेश श्रीवास से पुछताछ कर मेमोरण्डम कथन लेने पर बताया नरेन्द्र श्रीवास की पत्नी पूजा श्रीवास का मेरे से प्रेम संबध चल रहा था।

नरेन्द्र श्रीवास बात करते हुए पकड़ लिया था। इसी कारण उसके साथ विवाद चल रहा था। पूजा श्रीवास को पाने के लिये नरेन्द्र श्रीवास को रास्ते से हटाने के लिये पूरी प्लानिग के साथ उसकी हत्या करने की योजना बनाई।

आरोपियों ने बताया कि अपने मामा के गांव के लगरा सीपत बिलासपुर से अपने दोस्तों को बुलाकर प्लानिग अनुसार नरेन्द्र श्रीवास को अहमद लाज के पास सेलून दुकान के पास आरोपी शिवम साहू ने अपने मोबाईल से विनोद श्रीवास से बात की। तब नरेन्द्र श्रीवास ने उन दोनों के साथ अपना बाल कटिंग एवं दाढी बनाने का सामान को एक टावेल में लपेटकर रखा और अजय, शिवम साहू के उनके मो.सा. में पीछे बैठाकर मृतक को खडखडिया नाला रायपुर रोड होते देशी शराब दुकान रेहुटा भट्ठी से दो प्लेन शराब पउवा लेकर लिया और नुनिया पेट्रोल पंप के पास राकेश श्रीवास ने एक व्यक्ति को भेजकर उसने नींद की गोली बताकर एक अखबार पेपर में लपेट कर सल्फास गोली को दिया।नरेन्द्र को साथ में लेकर दोनों विनोद श्रीवास के मकान पर ले गए। पहले से राकेश श्रीवास अंदर कमरे में बैठा था। बाहर बैठक रूम में अजय, शिवम व नरेन्द्र श्रीवास तीनों बैठे और अजय धुरी शिवम साहू दोनों ने गिलास में शराब डालकर नरेन्द्र श्रीवास को शराब दी। इसके बाद उसकी हत्या कर दी।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button