राष्ट्रीय

500 राष्ट्रीय झंडों को लगाने के लिए 104.37 करोड़ रूपये का प्रावधान , दिल्ली सरकार का एलान

राष्ट्रीय राजधानी में 75 अलग-अलग स्थानों पर 115 फीट उंचा राष्ट्रीय ध्वज लगाने की घोषणा

AINS DESK…मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की तस्वीर बदल कर दिल्ली को एक नई पहचान देने वाले हैं। इसके लिए दिल्ली में 75 जगहों पर 115 फीट ऊंचा तिरंगा लगाया जाएगा। दिल्ली सरकार ने गणतंत्र दिवस के मौके पर, राष्ट्रीय राजधानी में 75 अलग-अलग स्थानों पर 115 फीट उंचा राष्ट्रीय ध्वज लगाने की घोषणा की है। इस की जानकारी दिल्ली सरकार में पीडब्ल्यूडी मंत्री सत्येंद्र जैन ने ट्विटर के जरिये दी है। जहां उन्होंने इस संबंध में बताया कि इस कदम से देश के नागरिकों में देशभक्ति और गर्व की भावना पैदा करने में मदद मिलेगी।

दिल्ली सरकार के जरिये 2021-22 के बजट में 500 जगहों पर तिरंगे की स्थापना के लिए देश भक्ति बजट से धनराशी का आवंटित किया जायेगा। फ़िलहाल 27 जनवरी तक 75 जगहों पर राष्ट्रीय झंडे तिरंगे की स्थापना की जाएगी। जिसकी ऊंचाई 35 मीटर होगी। पहले इसके लिए 45 करोड़ रूपये आवंटित किये गए थे। बाद इसमें सशोधन करके 84 करोड़ रुपया कर दिया गया। वहीं अब इसके लिए लिए 104.37 का प्रावधान किया गया है, 500 राष्ट्रीय झंडों की स्थापना के लिए। जबकि शुरुआती 75 राष्ट्रीय झंडों में से 5 लग चुके हैं, जिसकी शुरुआत ईस्ट किदवई नगर में झंडे की स्थापना कर पिछले साल से शुरू किया गया था।

इन राष्ट्रीय झंडों की स्थापन के लिए उंचे खम्भे लगाये जायेंगे, जिनपर लाइट और सीसीटीवी कैमरे लगाये जायेंगे । इन खम्भों को उच्च गुणवत्ता वाले मजबूत स्टील का इस्तेमाल किया जायेगा, जिस पर ऐसे लाइटों का इस्तेमाल किए जायेगा जो हवाई जहाजों को बगैर बाधा पहुंचाए दिशा बतायेंगी। उंचे खम्भों को इस तरह से बनाया जायेगा, जो हवा के तेज बहाव में भी स्थिर रह सकें. वहीं खम्भे के उपरी हिस्से के आखिरी सिरे के पांच मीटर हिस्से में एलईडी फ्लडलाइट लगायी जायेंगी । राष्ट्रीय झंडे में लगने वाली लाइट को कुछ इस तरह डिजाईन किया जायेगा कि वह झंडे वाले हिस्से पर लाइट केन्द्रित करे। इसको विशेष तरह से बनाया जायेगा जिससे 25 सालों तक बगैर किसी नुक्सान के चले। इसके लिए 500 राष्ट्रीय झंडों को लगाने के लिए 104.37 करोड़ रूपये का प्रावधान किया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button