राष्ट्रीयव्यापार

Zomato के बोर्ड ने Blinkit को खरीदने की दी मंजूरी, ₹4,447 करोड़ में हुई डील

जोमैटो ने कहा, ''यह अधिग्रहण सामान की फौरन आपूर्ति करने वाले कारोबार में निवेश करने की हमारी रणनीति के अनुरूप है।

ऑनलाइन खानपान उत्पाद आपूर्तिकर्ता जोमैटो 4,447.48 करोड़ रुपए में ब्लिंकइट कॉमर्स प्राइवेट लिमिटेड (पूर्व में ग्रोफर्स) का अधिग्रहण करेगी। जोमैटो ने शुक्रवार को शेयर बाजार को भेजी गई सूचना में कहा कि यह सौदा शेयरों की अदला-बदली व्यवस्था के तहत किया किया जाएगा।

कंपनी के निदेशक मंडल ने शुक्रवार को हुई बैठक में ब्लिंकइट कॉमर्स के शेयरधारकों से 13.45 लाख रुपए प्रति इक्विटी शेयर की कीमत पर 33,018 शेयरों के अधिग्रहण को मंजूरी दे दी। इस प्रकार, यह सौदा 4,447.48 करोड़ रुपए का है। इस सौदे के तहत जोमैटो के एक रुपए अंकित मूल्य के 62.85 करोड़ पूर्ण चुकता इक्विटी शेयर 70.76 रुपए प्रति इक्विटी के भाव पर जारी किए जाएंगे।

जोमैटो ने कहा, ”यह अधिग्रहण सामान की फौरन आपूर्ति करने वाले कारोबार में निवेश करने की हमारी रणनीति के अनुरूप है।” ब्लिंकइट के प्रस्तावित अधिग्रहण को लेकर शेयरधारकों को लिखे एक पत्र में जोमैटो के संस्थापक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी दीपिंदर गोयल ने कहा, ”सामान की फौरन आपूर्ति करने वाला कारोबार पिछले एक साल से हमारी रणनीति में प्राथमिकता वाला क्षेत्र रहा है।”

उन्होंने कहा, ”हमने इस क्षेत्र को भारत और वैश्विक स्तर पर तेजी से बढ़ते हुए देखा है। ग्राहकों के लिए किराने और अन्य आवश्यक वस्तुओं की फौरन डिलीवरी बहुत मायने रखने लगी है। यह कारोबार हमारे मुख्य खाद्य व्यवसाय के साथ भी मिलता-जुलता है, जो कंपनी को लंबी अवधि में आगे बढ़ने का समर्थन करता है।” इससे पहले मार्च, 2022 में जोमैटो के निदेशक मंडल ने ब्लिंकइट को 15 करोड़ डॉलर तक का कर्ज देने की मंजूरी दी थी। पिछले साल कंपनी ने ग्रोफर्स (पूर्व नाम) में करीब नौ प्रतिशत हिस्सेदारी हासिल करने के लिए 10 करोड़ डॉलर (745 करोड़ रुपए) का निवेश भी किया था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button