छत्तीसगढ़

स्वच्छता कर्मियों को उल्टा लटकाने वाले विधायक को खुद उल्टा लटक कर चिरमिरी की जनता से माफी मांगना चाहिए।

भाजपा ने निगम क्षेत्र की 7 सूत्रीय मांगों को निगम का घेराव व धरना प्रदर्शन किया

AINS CHIRMIRI…उपरोक्त बाते पूर्व विधायक श्याम बिहारी जायसवाल ने नगर निगम द्वारा 7 सूत्रीय मांगो को पूर्ण न करने के कारण आयोजित निगम घेराव व धरना प्रदर्शन के दौरान कही, उन्होंने आगे कहा कि नगर पालिक निगम चिरमिरी क्षेत्र में नगर निगम की उदासीनता के कारण जनसुविधाओं और कर्मचारीयो से जुड़ी समस्याओं का निराकरण करने के लिये महापौर और विधायक के पास वक़्त नही है।

ये केवल स्वच्छता कर्मियों को उल्टा लटकाने की बात करते है जबकि स्वछता कर्मियों को देश के प्रधानमंत्री सम्मान दे रहे है। निगम और प्रदेश की गूंगी बहरी कांग्रेस सरकार जनहित के कामो को करने में भी असफल साबित हो रही है। पूर्व विधायक श्री जायसवाल ने कहा कि नगर निगम में कार्यरत नियमित व प्लेसमेंट कर्मचारियों का वेतन भुगतान विगत 3 माह से नहीं हो पाना दुर्भाग्यपूर्ण है। निगम क्षेत्र अंतर्गत सभी प्रमुख मार्गों पर लगाए गए स्ट्रीट लाइट काफी दिनों से बंद है व मरम्मत ना होने कारण खराब हो चुके हैं जिन्हें जल्द से जल्द चालू करने के लिये निगम के महापौर के पास वक्त नही है।

निगम क्षेत्र में जितने भी वाटर एटीएम है उन में कार्यरत कर्मचारियों को विगत 21 महीने से वेतन नहीं दिया गया, उनके घर किस तरह से चल रहे होंगे आप अनुमान लगा सकते है। नगर क्षेत्र में बरसात के बाद से गाजर घास व अन्य खरपतवार पौधे काफी तेजी से बढ़ गए उनकी साफ-सफाई नगर निगम द्वारा नहीं जाने से बीमारियों के फैलने का अंदेशा है। स्वच्छता के नाम पर केंद्र से आने वाले पैसों से 48 लाख का डस्ट बीन खरीदी घोटाला कर रहे है। क्षेत्र में संचालित सभी सिटी बस काफी लंबे अरसे से बंद है, जिससे क्षेत्र के आम नागरिकों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है, जिस हेतु पूर्व में संचालित सभी रूटों पर सिटी बसों का संचालन प्रारंभ करने को लेकर नगर निगम महापौर किस मुहूर्त का इंतजार कर रही है।

नगर निगम क्षेत्र के सभी प्रमुख सड़को पर आए दिन गौ-वंश काफी संख्या में नजर आते है, जिससे राहगीरों को काफी परेशानी के साथ दुर्घटनाओं का भी सामना करना लड़ रहा है, गौ-वंशो के लिए प्रदेश की कांग्रेस सरकार द्वारा लाखो रुपये खर्च कर बनाये गए गौठानो में उन्हें रखने की व्यवस्था कर पाने में भी असमर्थ है, इससे साफ जाहिर है कि गौठान भी भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया है। निगम क्षेत्र के विभिन्न वार्डो की सड़कें व नाली बरसात के कारण खराब हुई है, जिसके कारण आमजनों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है, बजबजाती नालियों से मलेरिया डेंगू जैसे बीमारियों के फैलने की आशंका बनी हुई है, जिस हेतु मरम्मत कार्य व दवा छिड़काव किया जाना महापौर और विधायक को आवश्यक नही लगता है।

पूर्व विधायक श्री दीपक पटेल ने कहा कि इस निगम में केवल महापौर और विधायक के परिवार का ही विकास हो रहा है। आम जनता की सुधि लेने का इनके पास वक़्त नही है। विनय है तो विकास की जगह विनास हो रहा है तो वही विकास की चाभी अब जनता खोज रही है। कोरोना काल मे 50-50 हजार रुपये सभी पार्षदों से ले लिया गया और उस पैसे का उपयोग कांग्रेस पार्टी का चेहरा चमकाने का काम महापौर और विधायक के द्वारा किया गया।

इस दौरान भाजपा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य अनिल केशरवानी, जिला महामंत्री व पूर्व महापौर डमरू बेहरा, जिला उपाध्यक्ष वीरेंद्र सिंह राणा, पूर्व अध्यक्ष किर्ती वासो, भाजपा मंडल अध्यक्ष रघुनन्दन यादव, नेता प्रतिपक्ष संतोष सिंह, बबलु डे, तेजनारायण सिंह, भाजयुमो मंडल अध्यक्ष अनीश यादव, राजेश सिंह, नरेंद्र साहू, हसदेव मंडल अध्यक्ष विनोद गुप्ता, मनेन्द्रगढ़ मंडल अध्यक्ष धर्मेंद्र पटवा, संजय सिंह, अभय जायसवाल, रामचरित द्विवेदी, महिला मोर्चा अध्यक्ष श्रीमती रानी गुप्ता, श्रीमती तिवारी, सावित्री दास, राजेन्द्र दास, लखन लाल श्रीवास्तव, धर्मेन्द्र, त्रिलोचन चक्रवर्ती, राजू नायक, अब्दुल रशीद, संदीप सोनवानी सहित काफी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button