राष्ट्रीय

Weather Update : देश के कई हिस्‍सों में भारी बारिश का अलर्ट, जानें IMD का पूर्वानुमान

आठ जुलाई तक पूरे देश में इसका असर देखने को मिलता है। दक्षिण-पश्चिमी मानसून 30 जून को ही उत्तर प्रदेश, दिल्ली एनसीआर, पंजाब, हरियाणा, राजस्थान हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर के कुछ हिस्सों में पहुंच गया है।

नई दिल्‍ली: देश के कई हिस्‍सों में मानसून की दस्‍तक के साथ ही झमाझम बारिश का दौर भी शुरू हो गया है। मौसम विभाग (India Meteorological Department, IMD) ने उत्तर एवं मध्य भारत के कुछ हिस्सों और दक्षिण प्रायद्वीप के अधिकांश हिस्सों में सामान्य से ज्‍यादा बारिश की भविष्यवाणी की है। आइएमडी की ओर से यह भी कहा गया है कि जुलाई महीने में सामान्य से अधिक बारिश की संभावना है। देश के किस हिस्‍से में कैसा रहेगा मौसम का मिजाज जानिये क्‍या कहता है मौसम विभाग… मौसम विभाग के मुताबिक आम तौर पर दक्षिण-पश्चिमी मानसून 27 जून को दिल्‍ली एनसीआर के इलाकों में पहुंचता है।

आठ जुलाई तक पूरे देश में इसका असर देखने को मिलता है। दक्षिण-पश्चिमी मानसून 30 जून को ही उत्तर प्रदेश, दिल्ली एनसीआर, पंजाब, हरियाणा, राजस्थान हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर के कुछ हिस्सों में पहुंच गया है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक 10 दिनों के दौरान दिल्ली में अच्छी बारिश होने की उम्मीद है। मौसम विभाग की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्‍त‍ि में कहा गया है कि 03 जुलाई तक गुजरात के अलग अलग इलाकों में भारी बारिश की संभावना है। दो जुलाई तक मध्य महाराष्ट्र, तटीय आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल, कोंकण, गोवा, तटीय कर्नाटक, केरल और माहे के विभ‍िन्‍न हिस्‍सों में भारी बारिश देखी जा सकती है। अगले पांच दिनों के दौरान आंतरिक कर्नाटक जबकि 02 जुलाई तक कोंकण और गोवा में भारी से ज्‍यादा भारी बारिश की संभावना है।

मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों के दौरान जम्मू संभाग में मध्यम बारिश की भविष्यवाणी की है। वहीं मौसम का पूर्वानुमान जारी करने वाली निजी एजेंसी स्‍काईमेट वेदर की रिपोर्ट के मुताबिक अगले 24 घंटों के दौरान कोंकण, गोवा, तटीय कर्नाटक और उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल के अलग-अलग हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। यही नहीं मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, पूर्वी गुजरात, राजस्थान, केरल, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के अलग अलग हिस्सों में भी हल्की से मध्यम बारिश संभव है। स्‍काईमेट वेदर ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि पूर्वोत्तर भारत, गंगीय पश्चिम बंगाल, तटीय आंध्र प्रदेश, लक्षद्वीप में भी हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है।

दिल्‍ली एनसीआर, हरियाणा और सौराष्ट्र, कच्छ, बिहार, झारखंड, तेलंगाना और तमिलनाडु के विभिन्‍न हिस्सों में हल्की बारिश भी हो सकती है। मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने मुंबई और उसके उपनगरीय इलाकों में मध्यम से लेकर भारी बारिश की चेतावनी दी है। विभाग की ओर से जारी अपडेट में कहा गया है कि अगले 24 घंटों के दौरान मुंबई के अलग-अलग स्थानों पर भारी से अत्यधिक भारी बारिश होगी। मुंबई में बीते 24 घंटे के दौरान 179.13 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है। मुंबई के पश्चिमी उपनगरों में 140.58 मिमी जबकि पूर्वी उपनगरों में 109.06 मिमी बारिश दर्ज की गई है। मुंबई और उसके उपनगरों के अधिकांश निचले इलाकों में जलभराव के कारण लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा है। बीएमसी जी-नार्थ वार्ड के दादर, धारावी, माहिम और माटुंगा में सबसे ज्‍यादा 238 मिमी बारिश हुई है। वहीं वर्ली और लोअर परेल वाले जी-साउथ वार्ड के इलाकों में 208 मिलीमीटर बारिश हुई है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button