राजनीतिराष्ट्रीय

मध्यप्रदेश सरकार की ट्विटर को चिट्ठी, लीना मणिमेकलई की पोस्ट 36 घंटे में हटाएं

ये चिट्ठी ट्विटर हेडक्वार्टर को भेजी गई है. पुलिस ने अपनी चिट्ठी में लीना के ट्विट्स के आईपी लॉग की मांग भी की है.

Kaali Poster Controversy: काली पोस्टर विवाद पर फिल्म मेकर लीना मणिमेकलई की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. अब मध्य प्रदेश सरकार ने ट्विटर से लीना के ट्वीट हटाने के लिए कहा है. एमपी के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा के निर्देश पर भोपाल के DCP (क्राइम) ने ट्विटर के लीगल डिपार्टमेंट को कार्रवाई के लिए पत्र लिखा है. चिट्ठी में लीना मणिकेलई के ट्विटर पोस्ट को हटाने के लिए कहा गया है. ये चिट्ठी ट्विटर हेडक्वार्टर को भेजी गई है. पुलिस ने अपनी चिट्ठी में लीना के ट्विट्स के आईपी लॉग की मांग भी की है.

पुलिस ने कंपनी से कहा है कि अगले 36 घंटे के अंदर आपत्तिजनक ट्वीट्स हटा लिए जाएं. इसके साथ ही क्राइम ब्रांच भोपाल ने फिल्म डायरेक्टर लीना के खिलाफ लुक आउट सर्कुलर जारी करने की कार्रवाई भी शुरू कर दी है. इस प्रारूप को ब्यूरो ऑफ इमिग्रेशन को भेजने की तैयारी चल रही है. नोएडा में भी शिकायत नोएडा में भी एक सामाजिक कार्यकर्ता ने फिल्म काली की डायरेक्टर के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया है. सामाजिक कार्यकर्ता ने आरोप लगाया है कि फिल्म के पोस्टर से धार्मिक भावनाओं को आहत पहुंची. राजन कुमार ने श्री चित्रगुप्त सभा ट्रस्ट नोएडा के जरिए शिकायत की है

क्या है पूरा विवाद? इस मसले की शुरुआत लीना मणिमेकलई (Leena Manimekalai) नामक फिल्म मेकर के एक पोस्टर शेयर करने के बाद हुई. लीना ने अपनी डॉक्यूमेंट्री फिल्म ‘काली’ का पोस्टर सोशल मीडिया पर शेयर किया था. इस पोस्टर में मां काली को सिगरेट पीते दिखाया गया. इसके साथ ही उनके एक हाथ में एलजीबीटी समुदाय का सतरंगा झंडा भी था. पोस्टर के सामने आते ही देशभर में इस पर बहस छिड़ गई. कनाडा में रहती हैं फिल्म मेकर फिल्म काली का विवादित पोस्टर जारी करने वाीलीं फिल्म मेकर लीना कनाडा में रहती हैं और सालों से फिल्म बना रही हैं. उनकी ये डॉक्यूमेंट्री फिल्म कनाडा में दिखाई जाएगी.

लीना के मुताबिक, उनकी डॉक्यूमेंट्री फिल्म टोरंटो में ‘अंडर द टेंट’ प्रोजेक्ट का हिस्सा है. लीना ने सोशल मीडिया पर 2 जुलाई को इसका पोस्टर रिलीज किया था. पोस्टर सामने आने के बाद #ArrestLeenaManimekalai ट्रेंड कर रहा है. विवाद बढ़ने के बाद कनाडा में भारतीय उच्च आयोग ने भी आपत्ति दर्ज कराई है. भारतीय उच्च आयोग ने इस फिल्म पर रोक लगाने की मांग की है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button