राष्ट्रीय

Flood Updates: भारी बारिश और बाढ़ से महाराष्‍ट्र, गुजरात और असम में हालात बिगड़े, राहत और बचाव में जुटी NDRF

दक्षिण-मध्य रेलवे ने भारी बारिश को देखते हुए 11 जुलाई से 13 जुलाई तक 34 एमएमटीएस ट्रेन सेवाएं रद्द कर दी हैं।

नई दिल्‍ली: देश के कई राज्‍य इन दिनों भारी बारिश और बाढ़ की समस्‍या से घिरे हुए हैं। इनमें गुजरात, महाराष्‍ट्र सबसे अधिक प्रभाव‍ित हुए हैं। इसके अलावा तेलंगाना, कर्नाटक और राजस्‍थान के कुछ इलाके भी इसी तरह की समस्‍या से जूझ रहे हैं।

कई राज्‍यों में इसकी वजह से कई लोगों की जान चली गई हैं। अकेले असम में ही बाढ़ और भूस्‍ख्‍लन से करीब 200 लोगों की मौत हो गई है। कई इलाकों में लगातार होती बारिश ने नदियों का जलस्‍तर बढ़ा दिया है। गुजरात के छोटा उदयपुर में भारी बारिश की वजह से आई बाढ़ से पुल का हिस्‍सा भी ढह गया। बाढ़ से प्रभावित इलाकों में राहत पहुंचाने के लिए एनडीआरएफ की टीमें स्‍थानीय प्रशासन से सहयोग कर रही हैं। गुजरात की स्थिति काफी खराब है। यहां के आधा दर्जन जिले भारी बारिश और बाढ़ से प्रभावित हुए हैं। इसको देखते हुए सीएम भूपेंद्र पटेल ने अधिकारियों की बैठक भी ली है।

मौसम विभाग की चेतावनी

मौसम विभाग ने गुजरात, कोंकण गोवा, मध्‍य महाराष्‍ट्र, विदर्भ, तेलंगाना और छत्‍तीसगढ़ में भारी बारिश की चेतावनी दी है। ओडिशा, आंध्र प्रदेश के तटीय क्षेत्र, कर्नाटक, मराठवाड़ा, सौराष्‍ट्र कच्‍छ और मध्‍य प्रदेश के अधिकतर इलाकों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। उत्‍तर पूर्वी राज्‍यों समेत पश्चिम बंगाल, झारखंड, रायलसीमा, पुडुचेरी, तमिलनाडु केरल, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, राजस्‍थान और हिमाचल में भी तेज बारिश हो सकती है।

ये राज्‍य भारी बारिश और बाढ़ से प्रभावित

गुजरात के कई जिलों में लगातार होती भारी बारिश ने स्थिति खराब कर दी है। यहां के कई इलाके जलमग्‍न है। राज्‍य के वलसाड, नडियाद, खेड़ा, तापी, नवसारी, अहमदाबाद में बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो गई है। लगातार हो रही भारी बारिश के कारण तापी जिले के पंचोल और कुम्भिया गांवों को जोड़ने वाला पुल बह गया है। वलसाड में एनडीआरएफ के साथ स्‍थानीय टीम भी काम कर रही हैं। बाढ़ के हालात को देखते हुए गुजरात के सीएम भूपेंद्र पटेल ने राज्य के आपातकालीन संचालन केंद्र के जिला कलेक्टरों के साथ एक बैठक की है। इसमें छोटाउदेपुर समेत दक्षिण गुजरात में भारी बारिश से उत्पन्न स्थिति से निपटने के लिए किए जा रहे कार्यों की समीक्षा की गई।

राज्‍य के नवसारी जिले में पूर्णा नदी का जलस्तर बढ़ने से यहां के कई इलाकों में बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं। तापी जिल में पिछले तीन दिनों से दिनों से भारी बारिश हो रही है, जिससे कई गांव प्रभावित हुए हैं। यहां पर बचाव टीमों को लगाया गया है। छोटा उदयपुर जिले में लगातार भारी बारिश से पुल का एक हिस्सा गिर गया, जिससे हालात खराब हो गए। राज्‍य की औरंगा नदी का जलस्‍तर लगातार होती बारिश के चलते बढ़ रहा है। वलसाड जिले के कई निचले इलाके इसकी वजह से प्रभावित हुए हैं। स्थानीय प्रशासन द्वारा लगभग करीब 300 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। यहां पर एनडीआरएफ की टीमें और स्थानीय प्रशासन के साथ मिलकर राहत कार्य में लगी हैं।

तमिलनाडु के कल्लाकुरिची जिले के उलुंदुरपेट क्षेत्र में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश के बाद सामान्य जनजीवन प्रभावित हुआ है।

कर्नाटक के मांड्या जिले में कृष्णा राजा सागर बांध में पानी का जलस्‍तर लगातार बढ़ रहा है। साथ ही मदाध मसूर झील का भी यही हाल है।

राजस्थान के धौलपुर शहर में भी भारी बारिश के चलते कई इलाकों में जलभराव की समस्‍या उत्‍पन्‍न हो गई है। बाद भारी जलभराव का सामना करना पड़ रहा है।

तेलंगाना के निर्मल और मुलुगु जिले के कई हिस्सों में भारी बारिश के कारण बाढ़ जैसी स्थिति का सामना करना पड़ रहा है। यहां पर गोदावरी नदी के बढ़ते जल स्तर को देखते हुए भद्राचलम उप-कलेक्टर ने चेतावनी जारी की है। इसमें कहा गया है कि नदी का जलस्‍तर वर्तमान में 48 फीट है। इसमें कहा गया है कि ये और बढ़ सकता है। ऐसे में इसके आसपास के सटे इलाकों को अलर्ट पर रखा गया है। राज्‍य के जयशंकर भूपलपेली जिले में लगातार बारिश से हालात खराब हो रहे हैं। यहां के अधिकतर जिलों में मौसम विभाग ने सोमवार को भी तेज बारिश होने की जानकारी दी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button