राजनीतिराष्ट्रीय

ब्रिक्स की बैठक में पीएम मोदी बोले, 7.5 प्रतिशत की आर्थिक वृद्धि दर की कर रहे हैं उम्मीद

यूक्रेन पर रूस के हमले से पैदा हुई जियो पॉलिटिकल अस्थिरता की वजह से इस सम्मेलन का आयोजन किया गया है.

Brics Summit 2022: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने गुरुवार को ब्रिक्स (Brics) की बैठक में हिस्सा लिया. चीन (China) की मेजबानी में हुई यह बैठक वर्चुअल माध्यम में आयोजित की हुई थी. इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping), रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin), दक्षिण अफ्रीका (South Africa) के राष्ट्रपति रामफोसा (Ramaphosa) और ब्राजील (Brazil) के राष्ट्रपति बोल्सोनारो (Bolsonaro) मौजूद थे.

यूक्रेन पर रूस के हमले से पैदा हुई जियो पॉलिटिकल अस्थिरता की वजह से इस सम्मेलन का आयोजन किया गया है. प्रधानमंत्री मोदी ने इस दौरान अपने संबोधन में कहा कि अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर सभी ब्रिक्स देशों में हुए शानदार आयोजनों के लिए मैं आप सभी का अभिनंदन करता हूं.

कोविड से वैश्विक अर्थव्यवस्था में पड़ा असर

आपकी ओर से मिले सहयोग के लिए मैं आप सबका धन्यवाद अदा करना चाहता हूं. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज लगातार तीसरे वर्ष में हम कोविड महामारी की चुनौतियों के बीच वर्चुअल रूप से मिल रहे हैं. हालांकि वैश्विक स्तर पर महामारी का प्रकोप पहले की तुलना में कम हुआ है लेकिन इसके अनेक दुष्प्रभाव अभी भी वैश्विक अर्थव्यवस्था में दिखाई दे रहे हैं.

ब्रिक्स में हुए हैं कई सुधार

पीएम मोदी ने आगे कहा कि वैश्विक अर्थव्यवस्था के बारे में ब्रिक्स के सदस्य देशों का नजरिया काफी समान रहा है इसलिए हमारा आपसी सहयोग वैश्विक परिदृश्य के मामले में काफी उपयोगी साबित हुआ है. प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले कई वर्षों में हमने ब्रिक्स देशों की राजनीति में कई संस्थागत सुधार किए हैं जिनसे इस संगठन की प्रभावशीलता बढ़ी है. यह प्रसन्नता का विषय है कि हमारे न्यू डेवलपमेंट बैंक की सदस्यता में भारी वृद्धि हुई है. ऐसे कई क्षेत्र हैं जहां हमारे आपसी सहयोग से नागरिकों के जीवन को सीधा लाभ मिल रहा है.

न्यू इंडिया को लेकर क्या बोले पीएम मोदी?

प्रधानमंत्री ने इस दौरान भारत की अर्थव्यवस्था का जिक्र करते हुए कहा कि 2025 तक भारतीय डिजिटल अर्थव्यवस्था का मूल्य एक लाख करोड़ अमेरिकी डॉलर तक पहुंच जाएगा. हमारी राष्ट्रीय अवसंरचना के अनुसार भारत में 1.5 लाख करोड़ डॉलर का निवेश करने का अवसर है. हम इस साल भारतीय अर्थव्यवस्था में 7.5 प्रतिशत की आर्थिक वृद्धि दर की उम्मीद कर रहे हैं.

प्रधानमंत्री ने न्यू इंडिया (New India) का जिक्र करते हुए कहा कि ‘न्यू इंडिया’ में हर क्षेत्र में आमूल चूल परिवर्तन हो रहे हैं. हम हर क्षेत्र में नवाचार का समर्थन कर रहे हैं. हमारा आपसी सहयोग कोविड (Covid-19) के बाद विश्व व्यवस्था में आ रहे सुधार में उपयोगी योगदान दे सकता है. हमने पिछले कुछ वर्षों में ब्रिक्स (Brics) में संरचनात्मक परिवर्तन किए हैं. जिससे इस संस्थान का प्रभाव बढ़ा है. खुशी की बात ये है कि ब्रिक्स के न्यू डेवलपमेंट बैंक की सदस्यता बढ़ी है. विश्वास है कि आज हमारा विचार-विमर्श हमारे संबंधों को और मजबूत करने का सुझाव देगा.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button