राष्ट्रीय

क्यों ज़रूरी है रक्तदान? जानें, कौन नहीं कर सकता ब्लड डोनेट

साथ ही जानना ज़रूरी है कि कौन व्यक्ति ब्लड डोनेट कर सकता है और कौन नहीं.

14 जून: ‘वर्ल्ड ब्लड डोनर डे’ (World Blood Donor Day 2022) है. प्रत्येक वर्ष ‘विश्व रक्तदान दिवस’ को एक खास थीम के तहत सेलिब्रेट किया जाता है. इस वर्ष इस दिवस की थीम रखी गई है ‘रक्तदान एकजुटता का कार्य है’ (Donating blood is an act of solidarity).

हर वर्ष नई थीम के तहत लोगों को रक्तदान करने के लिए जागरूक किया जाता है. इस बात के लिए लोगों को प्रेरित किया जाता है कि रक्तदान एक महादान है और ब्लड डोनेट करके आप कई लोगों को नई जिंदगी प्रदान करते हैं. हालांकि, रक्तदान करने से पहले और ब्लड डोनेट करने के बाद कुछ बातों को ध्यान में रखना चाहिए. साथ ही जानना ज़रूरी है कि कौन व्यक्ति ब्लड डोनेट कर सकता है और कौन नहीं.

क्यों महत्वपूर्ण है रक्तदान करना

मायोक्लिनिक में छपी एक खबर के अनुसार, रक्तदान एक स्वैच्छिक प्रक्रिया है, जो दूसरों के जीवन को बचाने में मदद कर सकती है. रक्तदान कई प्रकार के होते हैं और ये सभी प्रकार के रक्तदान विभिन्न चिकित्सा आवश्यकताओं को पूरा करने में मदद करते हैं. रक्तदान को इसलिए महादान का नाम दिया गया है क्योंकि आप जो ब्लड दान करते हैं, उससे कई लोगों की जिंदगी बच जाती है.

हर साल लाखों लोगों को ब्लड ट्रांसफ्यूजन की आवश्यकता होती है. कुछ को सर्जरी के दौरान रक्त चढ़ाने की सख्त आवश्यकता पड़ जाती है. कई बार दुर्घटना होने के बाद भी एमरजेंसी में ब्लड चढ़ाना होता है. ऐस में रक्तदान करने से इन सभी परिस्थितियों में आपके द्वारा डोनेट किया गया ब्लड ज़रूतमंदों की जान बचाने के लिए चढ़ाया जाता है. मानव रक्त का कोई विकल्प नहीं है. सभी ट्रांसफ्यूजन में डोनर के रक्त का ही उपयोग किया जाता है.

कौन कर सकता है रक्तदान

-ब्लड डोनेट करना हो या प्लाज्मा या प्लेटलेट्स, इसके लिए आपकी सेहत अच्छी होनी चाहिए. आप खुद -शारीरिक रूप से कमजोर ना हों.

-शरीर में आपके खून की कमी ना हो.

-रक्तदान करने के लिए आपकी उम्र कम से कम 18 वर्ष होनी चाहिए.

-आपका वजन कम से 50 किलोग्राम हो.

-आपको कोई गंभीर बीमारी या ब्लड डिसऑर्डर ना हो.

: रक्तदान के बाद कहां जाता है ब्लड और किस प्रक्रिया से होती है इसकी जांच

कौन नहीं कर सकता है रक्तदान

-यदि आप किसी दवाई जैसे एंटी-बायोटिक का सेवन करते हैं.

-आपने हाल ही मैं शरीर पर टैटू बनवाया हो.

-किसी तरह का टीका लगवाया हो जैसे खसरा, चिकन पॉक्स, शिंगल्स आदि.

-शारीरिक रूप से कमजोर व्यक्ति नहीं कर सकते हैं रक्तदान.

-किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित व्यक्ति.

-डायबिटीज के मरीजों को भी बचना चाहिए.

-यदि ब्रेस्टफीड कराती हैं तो ना करें रक्तदान.

-18 से नीचे और 65 साल से अधिक आयु वाले बुजुर्ग लोग ना करें रक्तदान.

-स्मोकिंग, एल्कोहल का अधिक सेवन करने वाले इससे बचें.

ब्लड डोनेट करने से पहले इन बातों का रखें ध्यान

-जिस दिन आपको ब्लड डोनेट करना है, उससे एक रात पहले भरपूर नींद लें.

-हेल्दी भोजन करने के बाद ही ब्लड डोनेट करने के लिए जाएं.

-फैटी फूड्स, जंक फूड्स, आइसक्रीम, फ्राइज, बर्गर आदि खाकर ब्लड दान करने ना जाएं.

-रक्तदान करने से पहले पर्याप्त मात्रा में पानी पीकर जाएं.

-यदि आप कोई दवाई का सेवन करते हैं, तो ब्लड डोनेट करने से पहले इसकी जानकारी ज़रूर दे दें.

-यदि आपको प्लेटलेट डोनेट करना है और आप एस्पिरिन खाते हैं, तो डोनेट करने से दो दिन पहले से ही इस दवा को खाना बंद कर दें.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button