राष्ट्रीय

निलंबित आईएएस अफसर पूजा सिंघल की मुश्किलें बढ़ीं, 5 हजार पन्नों की चार्जशीट में कई खुलासे हुए

वह उद्योग सचिव के रूप में तैनात थीं और राज्य खनन और भूविज्ञान विभाग के सचिव का अतिरिक्त प्रभार संभाल रही थीं. इसके अलावा सुमन कुमार को भी गिरफ्तार कर लिया गया है.

नई दिल्ली: प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मंगलवार को झारखंड की पूर्व खनन सचिव पूजा सिंघल के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग केस में चार्जशीट दाखिल कर दिया है. करीब 5 हजार पन्नों की इस चार्जशीट में कई खुलासे किए गए हैं. 2000 बैच की आईएएस अफसर पूजा सिंघल को मनरेगा फंड के गबन और संदिग्ध वित्तीय लेनदेन के मामले में गिरफ्तार किया गया है. 44 वर्षीय नौकरशाह पूजा सिंघल को झारखंड सरकार ने गिरफ्तारी के तुरंत बाद निलंबित कर दिया था. वह उद्योग सचिव के रूप में तैनात थीं और राज्य खनन और भूविज्ञान विभाग के सचिव का अतिरिक्त प्रभार संभाल रही थीं. इसके अलावा सुमन कुमार को भी गिरफ्तार कर लिया गया है.

ये दोनों न्यायिक हिरासत में हैं. ईडी ने 6 मई को रांची में सिंघल, उनके व्यवसायी पति अभिषेक झा और चार्टर्ड अकाउंटेंट के परिसरों पर सबसे पहले छापेमारी की थी. एजेंसी ने दावा किया था कि उसने सुमेर कुमार के आवास और कार्यालय परिसर से 17.79 करोड़ रुपये नकद जब्त किए. इन गिरफ्तारियों के बाद ईडी ने राज्य सरकार के कई अधिकारियों से भी पूछताछ की थी. ईडी ने अदालत को बताया था कि रांची में अधिकारी पूजा सिंघल और उनके परिवार के स्वामित्व वाले एक मल्टी-स्पेशियलिटी अस्पताल का कथित तौर पर नौकरशाह द्वारा इस्तेमाल किया जा रहा था ताकि ब्लैक मनी को व्हाइट किया जा सके. पूजा सिंघल ने पल्स सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल के निर्माण और प्रबंधन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button