अन्तराष्ट्रीय

World Photography Day 2022: जानिए 19 अगस्त को क्यों मनाया जाता है विश्व फोटोग्राफी दिवस

विश्व फोटोग्राफी दिवस फोटोग्राफी की कला, शिल्प, विज्ञान और इतिहास का एक वार्षिक, विश्वव्यापी उत्सव है। यह सबसे महत्वपूर्ण कला के रूपों में से एक है

प्रत्येक वर्ष 19 अगस्त को विश्व फोटोग्राफी दिवस मनाया जाता है। विश्व फोटोग्राफी दिवस फोटोग्राफी की कला, शिल्प, विज्ञान और इतिहास का एक वार्षिक, विश्वव्यापी उत्सव है। यह सबसे महत्वपूर्ण कला के रूपों में से एक है। फोटोग्राफी किसी की भावनाओं और व्यक्तिगत अभिव्यक्ति को व्यक्त करने का एक साधन है। हेनरिक इबसेना की एक प्रसिद्ध कहावत है, जिसमें उन्होंने कहा है कि, ‘‘एक तस्वीर एक हज़ार शब्दों के बराबर होती है। कभी-कभी तस्वीरें, शब्दों की तुलना में अधिक प्रभावी ढंग से भावना व्यक्त करती हैं।

विश्व फोटोग्राफी दिवस मनाने की शुरुआत नौ जनवरी 1839 को फ्रांस में हुई थी। इसके पीछे की कहानी कुछ यूं है कि उस समय एक फोटोग्राफी प्रक्रिया की घोषणा की गई थी, जिसे डॉगोरोटाइप प्रक्रिया कहा जाता है और इसी प्रक्रिया को दुनिया की पहली फोटोग्राफी प्रक्रिया माना जाता है। फ्रांस के जोसेफ नाइसफोर और लुइस डॉगेर ने इसका आविष्कार किया था। इसके बाद 19 अगस्त, 1839 को फ्रांस की सरकार ने इस आविष्कार की घोषणा की और उसका पेटेंट हासिल किया। यही वो दिन है, जिसे हमेशा याद रखने के लिए हर साल 19 अगस्त को ‘‘वर्ल्ड फोटोग्राफी डे’’ यानी विश्व फोटोग्राफी दिवस मनाया जाता है।

कई लोगों के लिए फोटोग्राफी उनका शौक होने के साथ-साथ जुनून भी है। 19वीं सदी की शुरुआत से फोटोग्राफी उद्योग प्रगति कर रहा है और मील का पत्थर साबित हुआ है। कैमरा तकनीकि में प्रगति के कारण आज डिजिटल फोटोग्राफी ने फोटोग्राफी के सभी पुराने संस्करणों को बदल दिया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button