क्राइमराष्ट्रीय

अवैध हथियार बनाने की फैक्ट्री पर पड़ा छापा, 9 तस्कर गिरफ्तार

दरअसल, बिहार STF की टीम अपने एक ऑपरेशन को अंजाम देने में लगी थी। वो मुंगेर के रहने वाले अवैध हथियार के एक सौदागर की तलाश में जुटी थी।

मैनपुरी। उत्तर प्रदेश के मैनपुरी में बिहार का मुंगेर मॉडल काम कर रहा था। हथियार तस्करों की मदद से वहां अवैध रूप से हथियार बनाने की फैक्ट्री चल रही थी। इस बात की भनक उत्तर प्रदेश की पुलिस को भी नहीं थी। दरअसल, बिहार STF की टीम अपने एक ऑपरेशन को अंजाम देने में लगी थी। वो मुंगेर के रहने वाले अवैध हथियार के एक सौदागर की तलाश में जुटी थी। इसी क्रम में बिहार STF के हाथ यह सूचना लगी। जिस शख्स को वो खोज रही थी, वो अपने दो साथियों के साथ उत्तर प्रदेश में एक्टिव है।

इसके बाद STF की टीम उसके पीछे लगी। कई दिनों की सूचनाओं को जुटाने के बाद STF उत्तर प्रदेश के मैनपुरी पहुंची और फिर लोकल पुलिस के साथ मिलकर आज कार्रवाई की। मैनपुरी में कोतवाली थाना के तहत मिनी गन फैक्ट्री चल रही थी। वहां से कुल 9 लोगों की गिरफ्तारी हुई। इसमें बिहार के मुंगेर के रहने वाले जमालपुर का सोनू शार्म, ईस्ट कॉलोनी का मदन शर्मा और रामनगर का मोहित कुमार शामिल है। STF इन तीनों में से ही एक को तलाश रही थी। इन तीनों के अलावा जिन 6 लोगों को पकड़ा गया है, वो सभी उत्तर प्रदेश के मैनपुरी के ही रहने वाले हैं।

इसमें, पंकज, बबलू उर्फ मोहर सिंह, शैलेंद्र सिंह, शिवम कुमार, शैकी यादव और ललित उर्फ बिनू शामिल हैं। STF के अधिकारी के अनुसार, इन सभी से पूछताछ की जा रही है। इनके कनेक्शन को खंगाला जा रहा है। मिनी गन फैक्ट्री कब इन लोगों ने बनाई? पहले किन लोगों को और कहां हथियार की सप्लाई की? इसके बारे में पता किया जा रहा है।

इनके ठिकाने से 7.65mm का एक पिस्टल, एक देशी पिस्टल, दो गोली, 58 पीस अर्द्धनिर्मित पिस्टल, 26 बैरल, 34 पीस पिस्टल का बट ग्रीप, 38 पीस लोहे का चादर, 4 पिस्टल फिनिशर, वेल्डिंग मशीन 1, ड्रील मशीन 2, 1 ग्राइंडर मशीन, 1 शेप मशीन, 1 लेथ मशीन, 75 पिस्टल स्प्रिंग, पिलास 3, 7 हैमर, 25 रेती, 8 लोहे का रड, फायरिंग पीन 10, ग्रुब्ज मेकिंग मशीन 56 पीस, हेक्सा ब्लेड 20, साइकिल फ्रॉग मैग्जीन बनाने वाली मशीन 2 और 2 पीस छेनी बरामद किया गया है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button