क्राइमराष्ट्रीय

और कितने कन्हैयालाल ? किसी को ईद तक, तो किसी को 17 जुलाई तक हत्या की धमकी

बरेली के ही एक अन्य घटनाक्रम में पुलिस ने थाना बारादरी पर नाज़िम अलवी नामक एक शख्स पर प्राथमिकी दर्ज की है। बरेली पुलिस ने 30 जून 2022 को Twitter पर इसकी जानकारी दी है।

नई दिल्ली: उदयपुर में 28 जून 2022 को कट्टरपंथियों द्वारा की गई टेलर कन्हैयालाल की निर्मम हत्या को जायज ठहरा रहे कई लोगों पर संज्ञान में आने के बाद पुलिस ने एक्शन लिया है।

दरअसल, ये लोग इस बहशीपन को प्रोत्साहित कर रहे थे, वहीं कुछ ने तो कन्हैयालाल की हत्या पर आतिशबाजी करके जश्न भी मनाया। अभी तक ऐसे कई मामलों में पुलिस ने लोगों की शिकायत पर कार्रवाई की है।

उत्तर प्रदेश के बरेली से पुलिस ने कन्हैयालाल की नृशंस हत्या को जायज ठहराने के आरोप में अरेस्ट किया गया है। आरोपित का नाम मोहसिन कुरैशी है। मोहसिन ने अपने फेसबुक पर कन्हैयालाल की हत्या को न केवल सही ठहराया था, बल्कि ऐसी और हत्याएँ किए जाने की हिमायत की थी। बरेली पुलिस के अनुसार, सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट लिखने वाले मोहम्मद ताज को भी अरेस्ट किया गया है।

बरेली के ही एक अन्य घटनाक्रम में पुलिस ने थाना बारादरी पर नाज़िम अलवी नामक एक शख्स पर प्राथमिकी दर्ज की है। बरेली पुलिस ने 30 जून 2022 को Twitter पर इसकी जानकारी दी है। FIR के अनुसार, नाज़िम ने नूपुर शर्मा का समर्थन करने वाले एक शख्स अमन राठौर का सिर ईद से पहले कलम करने की धमकी दी है। इस धमकी के विरोध में हिन्दू संगठनों ने SSP बरेली को ज्ञापन भी सौंपा है।

वहीं यूपी के ही सहारनपुर में 2 अलग-अलग लोगों का हाल उदयपुर के कन्हैयालाल जैसा करने की धमकी दी गई है। ये धमकी इन्हें चिट्ठी के जरिए दी गई है। इसमें से एक व्यक्ति बजरंग दल का कार्यकर्ता रजत शर्मा है। सहारनपुर के SSP आकाश तोमर ने इस धमकी का संज्ञान लेते हुए धमकाए गए लोगों को पुलिस की तरफ से गनर मुहैया करवाया है। इसी के साथ इस मामले में केस दर्ज करके धमकी देने वाले की खोजबीन शुरू कर दी गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button