टेक्नोलॉजी

सावधान! Facebook पर प्रमोट हो रहे हैं खतरनाक ऐप्स, लाखों लोगों ने किया डाउनलोड

चिंता की बात यह है कि इन ऐप्स को अब तक लाखों लोग डाउनलोड कर चुके हैं.

नई दिल्ली: फेसबुक पर पॉप-अप होने वाले कई ऐप्स को लेकर जानकारी सामने आई है कि यह ऐप्स Android यूजर्स के फोन में वायरस इंजेक्ट कर रहे हैं और हैकर्स इन्हें फेसबुक मार्केटिंग के जरिए प्रमोट किया जा रहा है.

चिंता की बात यह है कि इन ऐप्स को अब तक लाखों लोग डाउनलोड कर चुके हैं. साइबर एक्सपर्ट्स के मुताबिक उन्हें 12 ऐसे ऐप्स मिले हैं, जिनको 7 मिलियन से ज्यादा लोगों ने डाउनलोड किया है.

McAfee के साइबर एक्सपर्ट्स ने दावा किया है कि जैसे ही यूजर्स इन ऐप्स को डाउनलोड करते हैं, उनके फोन में मौजूद निजी डिटेल्स हैकर्स तक पहुंच जाती है. उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक पर मौजूद दर्जनों ऐसे ऐप्स मौजूद हैं और इन्हें प्रमोट भी किया जा रहा है. सिक्योरिटी एक्सपर्ट्स ने यूजर्स को चेतावनी दी है कि इन ऐप्स की वजह से लाखों यूजर्स का निजी डेटा हैकर्स के हाथ लग सकता है.

कौन से हैं ये ऐप्स

McAfee ने 12 ऐसे ऐप्स की खुलासा किया है, जिनमें इस तरह के ऐडवेयर, स्पाइवेयर और मेलवेयर पाए गए हैं. इनमें से ज्यादातर क्लिनिंग ऐप्स हैं, जिन्हें यूजर्स डिवाइस की जंग फाइल्स को क्लिन करने के लिए इंस्टॉल करते हैं, ताकि डिवाइस की परफॉर्मेंस बेहतर रहे. इन ऐप्स में, जन क्लीनर, ईजीक्लीनर, पावर डॉक्टर, सुपर क्लीन, फुल क्लीन – क्लीन कैशे ,फिंगरटिप क्लीनर, क्वीक क्लीनर, कीप क्लीन, विंडी साफ, कार्पेट क्लीन, कूल क्लीन स्ट्रांग क्लीन और Meteor Clean शामिल हैं.

Play Store पर भी लिस्ट हैं ऐप्स

साइबर एक्सपर्ट की रिपोर्ट के मुताबिक Facebook पर प्रमोट किए जाने वाले ऐप्स न केवल ऐडवेयर, बल्कि स्पाइवेयर (जासूसी सॉफ्टवेयर) और मेलवेयर (वायरस) भी कैरी करते हैं. यूजर्स को चकमा देने के लिए साइबर क्रिमिनल्स इन ऐप्स को नाम और उनका आइकन बदल कर प्रमोट कर रहे हैं. हैरान करने वाली बात यह है कि ये खतरनाक ऐप्स Google Play Store पर भी नए नाम से लिस्ट किए जा रहे हैं.

लाखों लोग कर चुके हैं डाउनलोड

इन ऐप्स को अब तक लाखों लोग डाउनलोड कर चुके हैं. इन ऐप्स को दक्षिण कोरिया, जापान और ब्राजील में सबसे ज्यादा डाउनलोड किया गया है. हालांकि राहत की खबर यह कि गूगल प्ले स्टोर से फर्जी ऐप्स को हटा रहा है. ऐसे में गूगल इन ऐप्स को भी प्ले स्टोर से हटा सकता है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button